#बरसात

युं नजरो सें जो बता दि..

सूनी दिलं ने जो खता थी….

बेवजह आँखो से यूही बरसात नहीं होती.
🖋️ अभयसिंह

Create your website with WordPress.com
Get started